मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान कार्यक्रम

मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान कार्यक्रम

पुलिस अधिक्षक महोदय बेमेतरा की अध्यक्षता में जिले के मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान किया गया ...

मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान कार्यक्रम

मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान कार्यक्रम

पुलिस अधिक्षक महोदय बेमेतरा की अध्यक्षता में जिले के मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान किया गया ...

ग्राम रक्षा समिति

ग्राम रक्षा समिति

पुलिस अधिक्षक महोदय बेमेतरा की अध्यक्षता में ग्राम रक्षा समिति प्रोग्राम का सफल आयोजन ...

अनुसंधान में अंगुलचिन्ह का महत्व

अनुसंधान में अंगुलचिन्ह का महत्व

जिला बेमेतरा अनुसंधान में अंगुलचिन्ह का महत्व पर सेमीनार का आयोजन...

SP BEMETARA

Prashant Singh Thakur (IPS)

Mobile No.- 9479190088

Brief Introduction

बेमेतरा जिला :

छत्तीसगढ़ राज्य के दुर्ग जिले को विभाजित कर 22 वें जिले के रूप में 12 जनवरी 2012 को बेमेतरा जिला का गठन किया गया। जिसका विधिवत उद्घाटन राज्य के मुख्यमंत्री माननीय डाॅ. रमन सिंह जी के द्वारा किया गया। जिला मूल रूप से कृषि प्रधान एवं शांति प्रिय क्षेत्र है। लगभग 02 हजार 855 वर्ग कि.मी. में फैला है। नये जिले की कुल जन संख्या 795334 है। इनमें 07 लाख 21 हजार की आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है।

जिला बेमेतरा 02 पुलिस अनुविभागीय क्षेत्र पुलिस अनुविभागीय बेमेतरा एवं बेरला, 08 थाना क्षेत्र थाना बेमेतरा, नवागढ़, नांदघाट, खम्हरिया, दाढ़ी, साजा, बेरला, परपोड़ी एवं 05 पुलिस चौकी क्षेत्र खण्डसरा, देवकर, मारो, चंदनू एवं कण्डरका में विभाजित है। यहां के प्रथम पुलिस अधीक्षक के रूप में श्री आर.पी. साय, भापुसे ने अपनी सेवायें दी।

जिला मुख्यालय बेमेतरा से लगभग 15 किलोमीटर की दूरी पर हाफ नदी के किनारे ग्राम बुचीपुर में चोदहवी शताब्दी का प्रसिद्ध महामाया मंदिर इस नये जिेले के गौरवशाली इतिहास की साक्षी है। रायपुर जिले की सरहद में शिवनाथ और खारून नदी के संगम में अत्यंत रमणीय व धार्मिक पर्यटन स्थल सोमनाथ का मंदिर इस जिले की शोभा बढ़ाते है।